Ayushman Bharat Golden Card kaise Banaye – 5 लाख का मुफ़्त इलाज पाना चाहते है तो आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने के लिए करें आवेदन !

PMJAY – क्या आप सालाना 5 लाख तक का फ्री में इलाज कराना चाहते है ? अगर हां तो आप जल्द से जल्द Ayushman Card बनाने हेतु आवेदन कर लें । क्योंकि, उत्तर प्रदेश (UP) राज्य सरकार आने वाले 15 दिनों तक यानी 10 मार्च से 24 मार्च तक Ayushman Pakhwada का आयोजन कर रही हैं । इसके तहत Ayushman Card मुफ्त में बनाया जाएगा । आज हम आपको PMJAY, Ayushman Bharat Golden Card Kaise Banaye से संबंधित जानकारी देंगे तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़ें ।

स्नातक पास है तो बीएसएफ के पदों पर करें आवेदन, 3 लाख से ज्यादा मिलेगी सैलरी !

Ayushman Bharat Golden Card kaise Banaye

How To Apply Ayushman Bharat Golden Card, Ayushman Card Apply Online, Ayushman Bharat Golden Card Kaise Banaye, Yojana, PMJAY, Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana, PM Yojana News

Ayushman Bharat Golden Card Kya Hai?

भारत सरकार के माध्यम से गरीबों का फ्री में इलाज कराने के लिए प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना (PMJAY) चलाया जा रहा हैं । हालांकि, PMJAY को आयुष्मान कार्ड के नाम से भी जाना जाता हैं । इस योजना के माध्यम से हर गरीब व्यक्ति साल में 5 लाख का इलाज फ्री में करा सकता हैं । आप भी Ayushman Golden Card बनाना चाहते है तो आपको नीचे दिए गए प्रक्रिया को पूरा करना होगा ।

आधार कार्ड के फैक्ट्स क्या – क्या है ?

आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज ?

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड

आयुष्मान गोल्डन कार्ड के फायदे क्या है ?

  • अगर व्यक्ति आयुष्मान गोल्डन कार्ड के लिए पात्र है तो उन्हें हर वर्ष 5 लाख रुपए का फ्री इलाज सर्विस प्रदान किया जाएगा ।
  • खतरनाक बीमारी अर्थात किडनी संबंधित बीमारी, कैंसर, मोतियाबिंद, सर्जरी इत्यादि की सर्विस प्रदान कि जाएगी ।3. जो व्यक्ति हॉस्पिटल में भर्ती में होगा उसे ही फ्री इलाज का सर्विस प्रदान किया जाएगा ।
  •  जो व्यक्ति हॉस्पिटल में भर्ती में होगा उसे ही फ्री इलाज का सर्विस प्रदान किया जाएगा ।

45 हजार रुपए महीना कमाना चाहते है तो कम लागत में शुरू करे ओला कैब बिजनेस !

भास्कर कैरियर परिवार के एक माननीय सदस्य बने 

WhatsAppJoin 
Telegram ChannelSubscribe
InstaGramFollow 
FaceBook PageLike
PinterestFollow
TwitterFollow

Leave a Comment